Font Decrease Font Normal Font Increase
Normal Contrast
High Contrast

यूथ20

युवा20 शिखर सम्मेलन एक प्रमुख अंतरराष्ट्रीय युवा सम्मेलन है जो सबसे अहम अंतरराष्ट्रीय मुद्दों से निपटने के लिए जी -8 और जी 20 देशों से छात्रों और युवा पेशेवर को एक साथ लाता है और छात्र संगठनों के अंतरराष्ट्रीय नेटवर्क के बीच अंतरराष्ट्रीय बातचीत और सांस्कृतिक खुलापन को बढ़ावा देता है। जी 20 युवा के मुख्य उद्देश्य इस प्रकार हैं:-

  • समय की सबसे अहम आर्थिक और सामाजिक समस्याओं को हल करने में दुनिया भर से युवा नेताओं को शामिल करना
  • एक सांस्कृतिक संवाद स्थापित करना
  • व्यापार साझेदारी और दोस्ती का निर्माण करना

मेक्सिको युवा 20 प्रतिनिधि शिखर सम्मेलन, प्यूब्ला, मई 2012

मैक्सिकों युवा 20 शिष्टामंडल शिखर सम्मेलन, प्‍यूब्ला , मई 20132 मैक्सि कन अध्य क्षता के तहत, उन कार्रवाइयों पर विचार करने के लिए जो वर्तमान चुनौतियों का सामना करने के लिए अंतर्राष्ट्री य समुदाय को करने चाहिए,9-11 मई, 2012 को जी 20 देशों के युवा प्रतिनिधि मिले और विश्व् को बेहतर बनाने के लिए उन्होंेने कार्रवाई का प्रस्तारव रखा। निम्नलिखित क्षेत्रों पर ध्यािन केंद्रित करने के लिए युवा नेताओं ने जी 20 से कहा:

  • आर्थिक स्थिरता और वित्तीय समावेशन: युवा 20 नेताओं ने बताया कि आर्थिक स्थिरता और वित्तीय समावेशन सतत आर्थिक विकास और गरीबी कम करने में योगदान देने वाली प्रणाली विकसित करने के लिए महत्वपूर्ण है। सबसे गरीब या गरीब तक पहुँचने के लिए पहुंच बढ़ाने को मोबाइल प्रौद्योगिकी और इंटरनेट को बढ़ावा देने के समुदाय आधारित वित्तपोषण के माध्यम से क्रेडिट प्रथाओं की स्थापना, लघु वित्तपोषण बैंकों की स्थापना करने के लिए कानूनी ढांचे में सुधार और युवाओं और गरीबों की आवश्यकताओं के अनुकूल विकास उत्पादों में निजी क्षेत्र के प्रेरक द्वारा प्राप्त किया जा सकता है।
  • युवाओं को रोजगार: युवा 20 नेताओं ने वैश्विक युवा बेरोजगारी में वृद्धि के लिए अपनी चिंता व्यक्त की है और गुणवत्ता की नौकरियों, शिक्षा और प्रशिक्षण और सामाजिक सुरक्षा के निर्माण के मुद्दों को संबोधित करने की आवश्यकता जताई.
  • अंतर्राष्ट्रीय व्यापार: युवा20 नेताओं ने आगे एकीकरण के लिए और विकसित स्थिति तक पहुँचने में मदद करने के लिए विकासशील और कम विकसित देशों के लिए समर्थन और सहयोग प्रदान करने के लिए विश्वक समुदाय से आग्रह किया। उन्होंने विकासशील अर्थव्यवस्थाओं और देशों के मंदी के दौर में सततता बढ़ाने के क्रम में समय की एक आवश्यक अवधि के लिए महत्वपूर्ण उद्योगों की रक्षा के लिए लगातार विश्व व्यापार संगठन के कानूनी उपायों को बनाए रखने की अनुमति देने के लिए विश्व व्यापार संगठन और दुनिया के नेताओं का सुझाव दिया। नेताओं ने यह भी उल्लेख किया कि दोहा दौर में अर्ध गतिरोध समाप्त करने और विशेष रूप से कृषि सब्सिडी से संबंधित मौजूदा व्यापार बाधाओं से संबंधित विकसित और विकासशील देशों के बीच समस्या का समाधान करने का प्रयास होना चाहिए।.
  • सतत विकास, हरित विकास और जलवायु परिवर्तन के खिलाफ लड़ाई को बढ़ावा देना: मौजूदा वैश्विक पर्यावरण और आर्थिक चुनौतियों को देखते हुए, युवा 20 प्रतिनिधियों ने स्थिरता, हरित विकास और जलवायु परिवर्तन से जुड़े मुद्दों में युवाओं को शामिल करने के महत्व को स्वीकार किया। इस लक्ष्य को हासिल करने के क्रम में उन्हों ने जलवायु परिवर्तन को कम करने के लिए समुदाय आधारित दृष्टिकोण के रूप में हरित ऊर्जा और सामाजिक उद्यम के सक्रिय प्रसार को बढ़ावा देने के लिए गैर नवीकरणीय ऊर्जा निगमों से वैश्विक शिक्षा प्रोत्साहन स्थानांतरण की सिफारिश की।
  • खाद्य सुरक्षा और वस्तुय मूल्य अस्थिरता: युवा 20 के प्रतिनिधियों ने सिफारिश की कि जी 20 कृषि उत्पादन की स्थिरता को बढ़ाने में सर्वोत्तम प्रथाओं का आदान प्रदान करने के लिए अंतर्राष्ट्रीय कृषि अनुसंधान पर सलाहकार समूह वैश्विक कृषि और खाद्य सुरक्षा कार्यक्रम का समर्थन करता है। उन्होंने खाद्य आपूर्ति श्रृंखला की दक्षता में सुधार करने, कृषि के क्षेत्र में सतत प्रौद्योगिकियों के अनुसंधान और प्रयोग में निवेश का सुझाव दिया। उत्पादकता में सुधार के साथ साथ, भोजन वितरण को भी प्राथमिक महत्व दिया जाना चाहिए। प्रतिनिधियों ने सीधे सबसे कमजोर समुदायों के लाभ के लिए लघु, मध्यम और लंबी अवधि के कृषि विकास में बढ़ते निवेश की सिफारिश की।
  • वैश्विक शासन और बहुपक्षीय संगठनों को सुदृढ़ करना: आज की दुनिया की वैश्विक प्रकृति के मद्देनजर प्रतिनिधिमंडल ने इंगित किया कि बहुपक्षवाद सरकारी और निजी संस्थाीओं को आपस में जोड़ने की शक्तिं बढ़ाएगा ताकि निम्न्लिखित वैश्वि क मुद्दों पर भागीदारी जिम्मेृदारी की भावना बढ़ सके:- आर्थिक और वित्तीनय अभिशासन पर्यावरणीय अभिशासन, बहु-पक्षीय संघर्ष और बहुपक्षीय संगठनों में युवकों की भूमिका।
  • जी 20 का भविष्य: युवा 20 नेताओं ने कहा कि वे इस बात के लिए वचनबद्ध हैं कि जी 20 अंतरर्राष्ट्रींय सहयोग के लिए अग्रणी मंच बना रहे। उन्होंेने जी 20 की प्रक्रिया में युवकों को शामिल होने का आग्रह किया और जी 20 के प्रेसीडेंसी के दायित्व के रूप में युवा 20 को जारी रखने का प्रस्तागव किया।

सेंट पीटर्सबर्ग जी 20 युवा मंच, 2013

रूसी जी 20 प्रेसीडेंसी के अधिकारिक कार्यक्रम के भाग के रूप में सातवां जी 20 युवा 20 (वाई 20) शिखर सम्मेलन 2013 का आयोजन 18-21 जून, 2013 को सेंट पीर्ट्सबर्ग में किया गया था। वाई20 रूस 2013 एक युवा शिखर सम्मेलन है जो जी 20 देशों से मेधावी युवकों को जी 20 नेताओं के शिखर सम्मेलन से जुड़े विषयों से संबंधित मुद्दों पर विचार-विमर्श करने के लिए एक साथ लाया।

वाई 20 रूस 2013 इंटरनेशनल डिप्लोमेटिक एंगेजमेंट एसोसिएशन- विश्वं के अग्रणी संगठन के साथ मिलकर फेडरल एजेंसी फॉर यूथ एफेयर्स द्वारा आयोजित किया गया जिसमें डिप्लोमेसी और बात-चीत में युवक शामिल होंगे। आईडीईए का प्रत्येनक जी 20 सदस्यि राष्ट्रय में भागीदार संगठन है। रूसी प्रेसीडेंसी ने जी 20 सदस्योंय को युवा 20 रूस 2013 के लिए प्रतिनिधि भर्ती करने के संबंध में अपने-अपने देशों में आईडीईए के भागीदारों के साथ मिलकर कार्य करने का अनुरोध किया है। भारत में यूथ फॉर पॉलिसी और डायलॉग (वाईपीडी) आईडीईए का भागीदार है।