Font Decrease Font Normal Font Increase
Normal Contrast
High Contrast

थिंक20

विचार 20 वैश्विक एजेंडे की सबसे अहम मुद्दों पर अपनी दृष्टि को साझा करने तथा सरकार और अकादमिक दायरों के बीच लाभकारी और सार्थक सहयोग के रखरखाव के उद्देश्य वाली विश्वा के अग्रणी विचार मंचों के प्रतिनिधियों की बैठक है। विचार मंच जी 20 प्रक्रियाओं, "विचार बैंक" के सृजन में महत्विपूर्ण भूमिका निभाता है जो मुख्यथ परिणामों को अनुसधान संस्थाचओं से वैश्विचक अभिशासन संस्थांनों को प्रेषित करने में सहायता करता है। बैठक के मुख्य् परिणाम उन व्याओवहारिक सिफारिशों के रूप में प्रदान किए जाते हैं जिन्हें विचार मंच वैश्विबक अभिशासन के मुद्दों, जी 20 की कार्य प्रणाली में सुधार तथा समावेशी आर्थिक विकास को सुसाध्य बनाने के लिए प्रदान करता है।


लॉस काबोस टी 20 की बैठक फरवरी, 27-29, 2012

पहली बार विचार 20 की बैठक मैक्सिकन जी 20 की अध्यक्षता में आयोजित की गई थी। 27-29 फ़रवरी को, विचार 20, जो दुनिया भर के अनुसंधान संस्थानों का नेटवर्क है, की बैठक लॉस काबोस जी 20 शिखर सम्मेलन के एजेंडे पर चर्चा करने के लिए मेक्सिको सिटी में आयोजित की गई थी। इस बैठक की सिफारिशें इस प्रकार हैं:

  • वैश्विक आर्थिक और वित्तीय प्रणाली को स्थिर करना और सुधारना: टी 20 ने सुझाव दिया कि जी 20 वित्तीय संकट के बाद यूरो क्षेत्र नीति प्रतिक्रिया की गुणवत्ता सुनिश्चित करने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभानी चाहिए। इस प्रकार जी 20 को अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के संसाधनों में वृद्धि और वैश्विक वित्तीय सुरक्षा जाल बनाकर यूरो जोन संकट से खतरे से बाकी दुनिया को बचाने के लिए एक प्राथमिकता बनानी चाहिए। टी 20 ने भविष्य की चुनौतियों से निपटने के लिए एक व्यवस्थित संप्रभु ऋण पुनर्गठन की प्रक्रिया की चर्चा शुरू करने के लिए भी जी 20 को भी सुझाव दिया।
  • "ग्रीन ग्रोथ" को बढ़ावा देना और खाद्य सुरक्षा: टी 20, ने मजबूत सतत और संतुलित विकास के लिए पिट्सबर्ग फ्रेमवर्क में एम्बेड करने के लिए "ग्लोबल ग्रीन ग्रोथ" को एक एकीकृत दृष्टिकोण पर सहमत करने के लिए जी 20 के मंच का आग्रह किया। इन्हों ने सुझाव दिया कि 'हरित विकास' के एजेंडे को मुख्यधारा बनाया जाना चाहिए। वृद्धि, विकास, ऊर्जा और खाद्य सुरक्षा के लिए मौजूदा जी 20 के एजेंडा में सभ्य रोजगार के अवसर पैदा करने और हरियाली के बुनियादी ढांचे और स्थिरता में निवेश को बढ़ावा देने की आवश्यकता पर जोर दिया जाना चाहिए। जी 20 मौजूदा एजेंडा पर ज्यादा ध्यान बनाए रख सकते हैं और, एक ही समय में, "ग्रीन ग्रोथ" का एक लॉस काबोस विरासत तैयार कर सकते हैं। इस बात पर भी 2020 तक अक्षम ईंधन सब्सिडी को खत्म करने की प्रतिबद्धता के माध्यम से निम्नलिखित की आवश्यकता पर बल दिया। खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए, जी 20 को कृषि सब्सिडी को खत्म करने और विशेष रूप से छोटे किसानों, महिलाओं द्वारा आदानों के लिए उपयोग सुनिश्चित करने के लिए प्रयास करना चाहिए। टी 20 टीम ने जोर दिया कि खाद्य सुरक्षा, अनुसंधान और विकास (आर एंड डी) और वस्तु,ओं की कीमतों में अस्थिरता अकेले कृषि मंत्री प्रदान नहीं कर सकते जिन पर क्रॉस कटिंग मुद्दों के रूप में नेतृत्व की आवश्यकता है। नेताओं को पश्चिम बंगाल, ओईसीडी, और संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों के बीच और राष्ट्रीय सरकारों के भीतर नीति जुटने पर ध्यान केंद्रित करने के लिए एक खाद्य सुरक्षा "जार (ओं)" नियुक्त करके इस क्षेत्र में नेतृत्व करना चाहिए।
  • जी 20 के प्रदर्शन में सुधार: जी 20 के प्रदर्शन में सुधार करने के लिए टी 20 ने ट्रोइका के पुन: आकलन का सुझाव दिया। उन्होंने ट्रोइका का समर्थन करने के लिए एक ब्यूरो की सिफारिश भी की। जी 20 और संयुक्त राष्ट्र के रूप में अन्य अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं के बीच संबंध मजबूत बनाने की भी जरूरत है। वार्ताकारों ने काम की नई पहल और कार्य प्रत्यातयोजन के संबंध में पारदर्शिता और परामर्शी प्रक्रियाओं को सुनिश्चित करने का सुझाव दिया।

मास्को टी 20 की बैठक, 11 दिसंबर 2012

दूसरी मंच विचार20 बैठक रूस के जी 20 की अध्युक्षता के हिस्से के रूप में 11 दिसंबर को मास्को में हुई। इस बैठक में विश्व के अग्रणी विचार मंच के प्रतिनिधियों ने वैश्विक आर्थिक एजेंडे पर सबसे महत्वपूर्ण मुद्दों पर विचारों का आदान-प्रदान किया। बैठक का मुख्य ध्याकन निम्न मुद्दों पर था:

  • व्यापक आर्थिक मुद्दों और राजकोषीय स्थिरता:
  • आर्थिक विकास को पुन:शक्तिि देना
  • व्यापार और प्रत्यक्ष विदेशी निवेश: विकास बहाली और कनवर्जेन्स की दिशा में मार्ग प्रशस्त करने के लिए औजार
  • सतत विकास बढ़ाना: साझा ग्लोबल विकास के स्थायी सूत्रों को ढूँढना